Khabarhaq

फिरोजपुर झिरका की पशु पेंठ बंद किया हुई कमेडा गांव में खोल दी अवेध पैठ पर मचा बबाल पुलिस ने कराई बंद।

Advertisement

यूनुस अलवी मेवात

 

फिरोजपुरझिरका नगर पालिका छेत्र में चलने वाली पशु पैठ रद्द होने के बाद खंड के ही गांव कामेडा में बृहस्पतिवार को गेरकानुनी तौर पर लगी पैठ पर बबाल मच गया।

 

सूचना मिलने के बाद पेठ को रुकवाने के लिए फिरोजपुर झिरका एसडीएम ने पुलिस बल को मौके पर भेजा जहा पुलिस ने मेला बंद कराने के साथ साथ मौके से दो तीन लोगो को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी है। वही ठेकेदार ने पुलिस को कुछ कागज दिखाए जिनकी पुलिस जांच कर रही हे। इससे पहले भी कमेड़ा गांव में लगने वाली पशु पैठ को अवेध बताते हुए जिला प्रशासन ने बंद करा दिया था।


आपको बता दे की फिरोजपुर झिरका नगरपालिका की ओर से शहर के अलवर नूंह मार्ग पर लगाई जाने वाली पशु पैठ को कुछ समय पहले दो करोड़ 82 लाख रूपये में पट्टे पर छोड़ा था। ठेकेदार द्वारा समय पर बकाया राशि जमा ने कराने के चलते नगर पालिका सचिव ने इस पेंठ को बंद करने के आदेश कर दिए थे। फिरोजपुर झिरका पशु पेंठ बंद होने का फायदा उठाते हुए कुछ ठेकेदारों ने मिलिभक्त कर बृहस्पतिवार को गांव कमेडा में पशु पैठ का आयोजन किया। जिसमे सेकडो पशु पहुंचे।
हालाकि शिकायत मिलने के बाद एसडीएम ने प्रशासनिक अधिकारी और पुलिस बल को पशु मेले को बंद करने के लिए मौके पर भेजा गया।

https://youtu.be/TtrO5oTk99g

जानकारी मिली कि कमेडा गांव में पशु मेले का आयोजन कई व्यापारियो ने मिलकर किया। इससे पहले भी अवेध रूप से कमेडा गांव में प्रशासनिक अधिकारियों की मिली भगत से काफी दिनों तक पशु मेला चलता रहा है। पशु मेला की पंचायत विभाग से मंजूरी ने मिलने के कारण जहां इसको बंद कराया गया वही इसके संचालकों के खिलाफ कानूनी कारवाई की बात भी कही गई थी।
बृहस्पतिवार को एक बार फिर कामेड़ा गांव में पशु मेले का आयोजन किया गया। समाचार लिखे जाने तक पुलिस ने कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया था और ने ही ठेकेदार ने पंचायत विभाग से पशु मेला लगाने का कोई प्रमिशन पत्र भी नही दिखाया। अब ऐसा लगता है की प्रशाशन इस मामले को रफा दफा करने में जुट गया है। जिसके कारण आरोपियों के हौंसले बुलंद हैं

Khabarhaq
Author: Khabarhaq

0 Comments

No Comment.

Advertisement

हिरयाणा न्यूज़

महाराष्ट्र न्यूज़

हमारा FB पेज लाइक करे

यह भी पढ़े

मेवात को करीब 800 टीजीटी और पीजीटी अध्यापक मिलने के बाद भी भारी टोटा  • नूंह जिला केवल डीईओ और एक बीईओ के सहारे चल रहा है। • मेवात शिक्षा केडर को मिले करीब 325 पीजीटी अध्यापक  • जल्द ही जेबीटी अध्यापक मिल सकते हैं। • जिले में अभी भी करीब 4900 अध्यापकों की भारी कमी है।

मेवात के पुलिस कप्तान विजय प्रताप बोले :- जनता के सहयोग से मेवात को अपराध व नशा मुक्त बनाया जाएगा • अपराधी, अपराध छोड़ दें या फिर जिला, किसी को बख्शा नहीं जाएगा • एसपी का पदभार संभालने के बाद पहली बार पत्रकारों से रूबरू हुए।

Please try to copy from other website