Khabarhaq

दिल्ली–मुंबई–एक्सप्रेस वे पर फिर हुआ हादसा,कई घायल

Advertisement

दिल्ली–मुंबई–एक्सप्रेस वे पर फिर हुआ हादसा,कई घायल
फैली रोड़ी पर अनियंत्रित हुई कई गाड़ियां डिवाइडर से टकराई। 
गाड़ियों में सवार कई लोगों को आई चोटे,बड़ा हादसा होने से टला। 
यूनुस अलवी,
नूंह:
नूंह जिले से गुजर रहे दिल्ली–मुंबई–एक्सप्रेसवे पर गुरुवार रात 9 बजे एक ट्रक में भरी हुई गिट्टियां (रोड़ी) कोई अज्ञात चालक बीच सड़क पर बिखराकर फरार हो गया। जिसका खामयाजा रोड पर चलने वाले वाहन चालकों को भुगतना पड़ा। रात के समय दिल्ली–मुंबई–एक्सप्रेस वे पर फैली गिट्टियां पर फिसलकर कई गाड़ियां अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकरा गई। जिनमें सवार कई लोगों को काफी चोटे आई। पलवल निवासी 54 वर्षीय दिनेश मंगला ने बताया कि वह अपने 29 वर्षीय बेटे विक्रांत के साथ पलवल से फिरोजपुर झिरका जा रहे थे। बलेनो कार को उनका बेटा विक्रांत चला रहा था। रात करीब 9 बजे जब वह नूंह के उजीना कट से दिल्ली–मुंबई–एक्सप्रेसवे पर चढ़े तो कुछ ही दूरी पर सड़क के बीचों-बीच गिट्टियां (रोड़ी) फैली हुई थी। जिन्हें देखकर अचानक ब्रेक लगाने पड़े , लेकिन गिट्टियां करीब 300 मीटर तक फैली हुई थी,जिनपर फिसलकर कार अनियंत्रित हो गई और डिवाइडर से जा टकराई।
उन्होंने बताया कि उनके पीछे चल रही दो गाड़ियों का भी बैलेंस बिगड़ गया और वह भी दुर्घटनाग्रस्त हो गई। गाड़ी के डिवाइडर से टकराने से दोनों पिता-पुत्र घायल हो गए। जिन्हें आस-पास के लोगों द्वारा गाड़ी से निकालकर एम्बुलेंस को सूचना दी। मौके पर पहुंची एनएचएआई की एम्बुलेंस ने दोनों घायलों को नल्हड़ मेडिकल कॉलेज नूंह में भर्ती कराया। जहां से घयलों के परिजनों ने उन्हें गुड़गांव के एक निजी अस्पातल में भर्ती कराया। घायल दिनेश ने बताया कि गाड़ी की रफ्तार बहुत कम थी जिससे समय रहते गाड़ी को काबू कर लिया गया, नहीं तो एक बड़ा हादसा हो सकता था। उन्होंने बताया कि उनकी रीड की हड्डी, हाथ और पैर में फेक्चर हुआ है तथा बेटे के पैर में गंभीर चोट आई है।
जिसका ऑपरेशन किया गुड़गांव के अकॉर्ड अस्पताल में किया जा रहा है। दिनेश ने बताया कि उनके पीछे से भी कई गाड़ियां हादसे का शिकार हुई है।
अस्पताल के डॉक्टरों ने एनएचएआई की एम्बुलेंस पर तैनात कर्मचारियों को लगाई फटकार:
दिनेश मंगला ने बताया कि जब एनएचएआई की एम्बुलेंस उन्हें नल्हड़ मेडिकल कॉलेज नूंह लेकर पहुंची तो अस्पताल के डॉक्टरों ने अस्पताल के कर्मचारियों को जमकर फटकार लगते हुए कहा कि एनएचएआई की ड्यूटी बनती है समय से रोड की सफाई करना। कुल मिलाकर एक्सप्रेस वे ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम ऑर्टिफिशियल इंटेलीजेंस तकनीक से लैस और हाइवे पर लगे अत्याधुनिक कैमरे भी इन हादसों पर लगाम नहीं लगा पा रहे है।
फोटो : अस्पताल में भर्ती घायल दिनेश और विक्रांत।
दिल्ली–मुंबई–एक्सप्रेस वे पर खड़ी दुर्घटनाग्रस्त बलेनो कार।
Khabarhaq
Author: Khabarhaq

0 Comments

No Comment.

Advertisement

हिरयाणा न्यूज़

महाराष्ट्र न्यूज़

हमारा FB पेज लाइक करे

यह भी पढ़े

मेवात को करीब 800 टीजीटी और पीजीटी अध्यापक मिलने के बाद भी भारी टोटा  • नूंह जिला केवल डीईओ और एक बीईओ के सहारे चल रहा है। • मेवात शिक्षा केडर को मिले करीब 325 पीजीटी अध्यापक  • जल्द ही जेबीटी अध्यापक मिल सकते हैं। • जिले में अभी भी करीब 4900 अध्यापकों की भारी कमी है।

मेवात के पुलिस कप्तान विजय प्रताप बोले :- जनता के सहयोग से मेवात को अपराध व नशा मुक्त बनाया जाएगा • अपराधी, अपराध छोड़ दें या फिर जिला, किसी को बख्शा नहीं जाएगा • एसपी का पदभार संभालने के बाद पहली बार पत्रकारों से रूबरू हुए।

Please try to copy from other website