Khabarhaq

रमजान के महीने में इफ्तार करना सवाब का काम: सद्दाम हुसैन(अयान)

Advertisement

रमजान के महीने में इफ्तार करना सवाब का काम: सद्दाम हुसैन(अयान)
यूनुस अलवी 
नूह 
आज दिल्ली में सद्दाम हुसैन यानी कि अयान हुसैन ने एक दावत ए इफ्तार का आयोजन किया इस मौके पर मेवात की छोटी-बड़ी शख्सियत इस दावत ए इफ्तार में शरीक हुई। सद्दाम हुसैन ने बताया कि रमजान के महीने में इस तरीके का इफ्तार का आयोजन करना शवाब का काम होता है। जिसमें काफी लोग मिलकर एक साथ रोजा इफ्तार किया जाए। तो यह काम हर मुसलमान को करना चाहिए जितना हो सके। क्योंकि रमजान के महीने में हर चीज का जो सवाब होता है वह 70 गुना मिलता है। तो सद्दाम हुसैन ने दिल्ली में अपने निवास के करीब एक प्लाजा होटल में एक दावत  ए इफ्तार का आयोजन किया। जिसमें काफी लोग इस दावत में शामिल हुए। और मेवात में अमनचेन और देश दुनिया में अमन चैन के लिए दुआएं की।
जिसमें सद्दाम हुसैन ने पत्रकार वार्ता में बताया कि वह हर साल दावत ए  इफ्तार का आयोजन करते हैं और इसका सिर्फ आयोजन करने का सिर्फ एक ही मकसद है।कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को  एक साथ प्यार मोहब्बत का पैगाम दे सके। क्योंकि ऐसी इफ्तार दावत सिर्फ आपके लिए की जाती है ।यह उन दावत से बिल्कुल अलग है जो नेता चुनावी मतलब से करवाते हैं लेकिन सद्दाम हुसैन का इस इफ्तार दावत का कराने का सिर्फ एक मकसद लोगों को जोड़ना और प्यार मोहब्बत का पैगाम देना इस मौके पर दावत में शरीक लोगों में:याहया इब्राहिम, नस्सू क्रिकेटर,अंजुम क्रिकेटर,अरशद क्रिकेटर,वसीम मास्टर जी, वक्की अक्की, बाबूजी अजीज अख्तर, सकील अहमद उमरी, कामरान सिंगारिया, साजिद आतिफ, शोएब, असलम गोरवाल, सहूद आलदुका, अरशद अडबर, वसीम चांदनी,नफीश छापडा और आरिफ सरपंच आदि शामिल हुए।
Khabarhaq
Author: Khabarhaq

0 Comments

No Comment.

Advertisement

हिरयाणा न्यूज़

महाराष्ट्र न्यूज़

हमारा FB पेज लाइक करे

यह भी पढ़े

भारत की सबसे उम्र दराज मेवात की 99 वर्षीय असगरी और 98 वर्षीय चंद्री हज के लिए मदीना रवाना। • बुजुर्ग हज्जन को पूरे सम्मान के साथ हज कमेटी इंडिया ने विदा किया गयासा • मान्य किराए के बावजूद बुजुर्ग हज्जन को विमान मे बिजनेस क्लास की प्रथम सीट दी गई

Please try to copy from other website