Khabarhaq

रामचरितमानस बकवास इस पर लगे रोक: मौर्य

Advertisement

रामचरितमानस बकवास इस पर लगे रोक: मौर्य
सपा नेता ने आपत्तिजनक बयान से बढ़ाया विवाद

खबर हक़
नई दिल्ली।

बिहार के मंत्री के बाद अब सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने रामचरितमानस पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर विवाद को बढ़ा दिया है। अमर उजाला के मुताबिक सपा नेता ने कहा, रामचरितमानस में दलितों और महिलाओं का अपमान किया गया है। तुलसीदास ने ग्रंथ को अपनी खुशी के लिए लिखा था। करोड़ों लोग इसे नहीं पढ़ते। इस ग्रंथ को बकवास बताते हुए कहा की सरकार को इस पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए। मोर्ये ने एक साक्षात्कार में मानस के एक अंश को उद्धृत करते हुए जाति व्यवस्था पर सवाल उठाया। उन्होंने सवाल उठाया, क्या यही धर्म है? जो
धर्म हमारा सत्यानाश चाहता है, उसका सत्यानाश हो। 11 जनवरी को बिहार के शिक्षामंत्री चंद्रशेखर ने भी मानस को नफरत फैलाने वाला हिंदू धर्म ग्रंथ बताया था।

Khabarhaq
Author: Khabarhaq

0 Comments

No Comment.

Advertisement

हिरयाणा न्यूज़

महाराष्ट्र न्यूज़

हमारा FB पेज लाइक करे

यह भी पढ़े

SYL पर हरियाणा के पक्ष में आया सुप्रीम कोर्ट का फैसला लागू करवाना मौजूद सरकार की जिम्मेवारी –स्वतंत्रता सेनानी चौ. रणबीर सिंह ने हमेशा गाँव, गरीब, किसान को अपने विचारों के केंद्र में रखा – भूपेन्द्र सिंह हुड्डा

Please try to copy from other website