Khabarhaq

मेवात पुलिस का साइबर आरोपियों पर रेड का असर, 20 दिन में 27 फीसदी साइबर क्राइम कम हुआ

Advertisement

मेवात पुलिस का साइबर आरोपियों पर रेड का असर आने लगा नजर

20 दिन में राष्ट्रीय स्तर पर 12 और राज्य स्तर पर 27 फीसदी साइबर क्राइम की आई कमी

 

यूनुस अलवी

मेवात

मेवात पुलिस द्वारा 27/28 अप्रैल की रात्री पुन्हाना खंड के 14 गावों में साइबर क्राईम से जुडे आरोपियों के ठिकानों पर की गई छापेमारी की कामयाबी का बड़ा असर अब सामने आने लगा है। छापे मारी के बाद हरियाणा ही नहीं बल्कि देष भर में साइबर क्राइम में काफी गिरावट आई है। जिले मेवात ही नहीं बल्कि हरियाणा पुलिस बड़ी कामयाबी मानकर चल रही है। पुलिस रेड की वज़ह से गत माह की अपेक्षा एक मई से 20 मई तक हरियाणा में साइबर षिकायतों में 27 फीसदी और राष्ट्रीय स्तर पर 12 फीसदी की कमी आई है। इससे साइबर अपराधियों को गहरी चोट पहुँची है, जिनमें अभी तक दहषत का माहौल है। पुलिस इस क्राइम को जड़ से खत्म करने के प्रयास में जुट गई है। जल्द ही एक बार फिर ऐसा भी छापामरी अभियान चलाने की योजना पर पुलिस काम कर रही है।

 

एसपी वरूण सिंगला ने बताया कि साइबर क्राइम के मामले देष और हरियाणा में बढ़ रहे थे। जब इसकी गहराई से जांच की गई तो पता चला की हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेष में बसे मेवात इलाके से इस साइबर क्राइम का गोरखधंधा चल रहा है। जांच कर करीब 20 हजार सिमों कों बंद कराया गया। इन बंद सिमों में से केवल 13 ही लोगों की शिकायत मिली हैं। एसपी का कहना है कि साइबर क्राइम के आरोपियों के ठिकानों पर रेड डालने से पहले करीब एक महीने से ज्यादा इसका मंथन किया गया। मेवात में 40 गावों में से सबसे पहले उन 14 गांवों को चुना गया जहां पर साइबर अपराध के सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे थे। इन सभी 14 गावों की मैपिंग कर टारगेट फिक्स किया गया। उन्होने बताया कि पूरे हरियाणा में साईबर थाना, अपराध षाखा आदि से जुडे करीब 5000 पुलिसकमिर्याे को रेड़ में षामिल किया गया। उन्होने बताया कि साइबर अपराधियों पर नकेल कसने के लिए दर्जन बार बैठकें हुई तब कहीं जाकर रेड़ डाली गई। उनका कहना है कि रेड़ की अगुवाई उन तेजजर्रार अधिकारियों को सौंपी गई। जो मेवात में तैनात है, या वे जो पहले मेवात में रह चुके थे। साइबर ठगों के घरों पर छापामारी करने से पहले उन तक पहुंचने के रास्ते, उनके मौजूद रहने, वे कहां सोते हैं आदि सभी का पूरी खाका तैयार किया गया था। रेड के दौरान 65 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया और भारी मात्रा में संदिग्ध सामान भी बरामद किया गया। 65 आरोपियों की निशानदेही पर करीब 250 उनके सह आरोपियों की भी पहचान की गई है। जिनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। एसपी का कहना है कि फिलहाल आरोपी मेवात छोड़कर अन्य राज्यों में भागे हुए है। जल्द ही अन्य बचे 24 गावों में भी रेड डाली जाऐगी।

एसपी का कहना है कि रेड का असर अब नजर आने लगा है। एक मई से 20 मई तक हरियाणा में साइबर षिकायतों में 27 फीसदी और राष्ट्रीय स्तर पर 12 फीसदी की कमी आई है। इससे साइबर अपराधियों को गहरी चोट पहुँची है, जिनमें अभी तक दहषत का माहौल है। पुलिस इस क्राइम को जड़ से खत्म करने के प्रयास में जुट ग

ई है।

Khabarhaq
Author: Khabarhaq

0 Comments

No Comment.

Advertisement

हिरयाणा न्यूज़

महाराष्ट्र न्यूज़

हमारा FB पेज लाइक करे

यह भी पढ़े

*राजस्थान के सीकर में जेजेपी का बजा डंका, लाखों की उपस्थिति में विधानसभा चुनावों का शंखनाद* *प्रदेश में निजी क्षेत्र मे लागू करेंगे 75 प्रतिशत आरक्षण-डा. अजय चौटाला* *…मेह थारा, थेह म्हारा, मिल गे लड़ागां राजस्थान के युवाओं की लड़ाई-डा. अजय चौटाला* *राजस्थान में अगला मुख्यमंत्री किसान का बेटा होगा -दुष्यंत चौटाला* *जेजेपी की चाबी से खुलेगा राजस्थान विधानसभा का ताला : दुष्यंत चौटाला

• तबलीग जमात के अमीर हजरत मौलाना यूफूस साहेब के शागिर्द रहे मियाजी अजमत का 96 साल की आयु में इंतकाल • मियाज़ी अजमत मेवात के जयवंत गांव के रहने वाले थे और 1944 से तबलीग जमात से जुड़े थे। • 1925 से तबलीग काम की शुरुआत मेवात से हुई और 1927 में पहली जमात निकली

Please try to copy from other website