Khabarhaq

हरियाणा के नूंह (मेवात) में प्रदेश के DGP, ADGP, IGP, CP, SP और बड़े पुलिस अधिकारियों का लगा जमावड़ा, अपराधियों के खिलाफ लिए कड़े फैसले। नासिर जुनेद हत्याकांड पर भी डीजीपी बोले

Advertisement

• नूंह के टूंडलाका गांव में राज्य स्तरीय अपराध गोस्ठी का आयोजन

• साइबर क्राइम, नशा और अपराध को रोकने के लिए कई कडे फैंसले

• नशा के खिलाफ जून महीना में प्रदेश में चलेगा विषेष अभियान-डीजीपी

• साइबर क्राइम पर नकेल कसने पर मेवात के एसपी सहित अन्य अधिकारी होंगे सम्मानित

• प्रदेश के डीजीपी पीके अग्रवाल, सीआईडी चीफ आलोक मित्तल, एडीजीपी क्राइम ओपी सिंह सहित प्रदेष की सभी रेंज के आईजी, एडीजीपी, सीपी और सभी एसपी मौजूद रहे।

फोटो- पीके अग्रवाल महा निदेशक पुलिस हरियाणा प्रदेश स्तरीय क्राइम बेठक लेते हुए

फोटो 2 पोधोरोपण करते हुए डीजीपी

फोटो 3 पत्रकारवार्ता ने डीजीपी अग्रवाल और सीआईडी चीफ आलोक मित्तल

मौहम्मद यूनुस अलवी

 

नूंह/मेवात/हरियाणा

हरियाणा के पुलिस महानिदेशक पीके अग्रवाल रविवार को नूंह जिला पहुंचे। उन्होने पुनहाना खंड के गांव टूंडलाका स्थित आईआरबी कैंप में आयोजित राज्य स्तरीय अपराध गोस्ठी की अध्यक्षता की। गोस्ठी में प्रदेश के सीआईडी चीफ आलोक मित्तल, एडीजीपी क्राइम ओपी सिंह, एडीजीपी लाईन ऑडर ममता सिंह, ट्रेफिक एंव हाईवे हरियाणा के आईजी हरदीप सिंह दून, गोमीपंद पंचकूला आईजी कुलविंद्र सिंह के अलावा प्रदेश की सभी पुलिस रेंज के एडीजीपी/आईजीपी, पुलिस कमिश्नर और सभी जिलों के एसपी मौजूद रहे। इस मौके पर साइबर क्राइम, नशा और अपराध को रोकने के लिए कई कडे फैंसले भी लिए गए। आईआरबी कैंप पहुंचे पर डीजीपी पीके अग्रवाल का जोरदार स्वागत किया गया। इस मौके पर डीजीपी, सीआईडी चीफ सहित सभी अधिकारियों ने पौधारोपन किया। वहीं 86 एकड़ में आईआरबी कैंप में चल रहे निर्माण कार्य का जायजा लिया।

मेवात के SP और पुलिस अधिकारी होंगे सम्मानित

पत्रकारों से बातचीत करते हुए हरियाणा पुलिस महानिदेशक पीके अग्रवाल ने झारखंड के जामताड़ा की तरह मेवात में साइबर क्राईम अपराधियों के खिलाफ चलाए गए बडे ऑपरेशन को कामयाब बताया। उन्होने कहा कि इस दौरान पकडे गऐ आरोपियों से देश भर के करीब 28 हजार मामलों की जानकारी मिली है। जिसकी सूचना संबंधित राज्यों को दे दी गई है। तथा इन कैसों की तहत तक जाने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए नूंह जिला में 40 साइबर ऐक्पर्ट की जिम्मेदारी लगाई गई है। वहीं डीजीपी ने साइबर अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किये जाने के लिए मेवात के एसपी वरुण सिंगला और उनकी टीम को प्रसंसी पत्र देकर सम्मानित करने बारे सरकार को प्रस्ताव भेजने की बात कही है। वही डीजीपी ने साइबर अपराधियों को जोर का झटका देने पर मेवात पुलिस की जमकर तारीफ की है। इस अपराधियों के खिलाफ आगे भी अभियान जारी रखने की डीजीपी ने बात कही है।

नशा मुक्ति के लिए जून में चलेगा अभियान

डीजीपी पीके अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश को नशा मुक्त बनाने के लिए जून महीना में विषेश अभियान चलाया जाएगा। फिलहाल प्रदेश में मेवात सहित करीब 10 जिले नशा प्रभावित हैं। नशा पर जल्द होगा प्रहार, डीजीपी ने कहा कि हरियाणा के 10 जिले ऐसे हैं, जहां नशे का मकड़जाल तेजी से बढ़ रहा है। इसी को ध्यान में रखते हुए जून माह में एक विशेष अभियान नशा तस्करों की कमर तोड़ने के लिए चलाया जाएगा। सभी पुलिस अधिकारियों को कहा गया है कि कार्रवाई की जाएगी, सभी पुलिस विभाग के आला अफसरों को दिशानिर्देश दिया गया है जो उनकी क्राइम टीम हैं वो छापा मारेंगे और सख्त कानूनी कार्रवाई करेंगे। आरोपियों की प्रॉपर्टी को भी अटैच करने की दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनको पकड़ने के साथ – साथ अवैध गतिविधि से जो संपति अर्जित की है, उसको भी अटैच किया जाए ताकि प्रभावी रूप से ठोस कार्रवाई की जा सके।

टुंडलाका में गेस्ट हाउस और मुलाजिमों के लिए मेस का निर्माण किया जाएगा

डीजीपी हरियाणा ने कहा कि 86 एकड़ में बन रहे आईआरबी कैंप टूंडलाका में एक गेस्ट हाउस और मुलाजिमों के लिए मेस का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि धीरे – धीरे यहां पर पुलिस बल स्थापित किया जाएगा, उनका प्रशिक्षण कराया जाएगा। प्रयास किया जाएगा कि यह इलाका सुरक्षा की दृष्टि से पूरी तरह से सुरक्षित रहे। हरियाणा, राजस्थान तथा उत्तर प्रदेश की सीमा यहां नजदीक है। सुरक्षा की दृष्टि मजबूत हो, इसलिए यह कदम उठाया गया है। डीजीपी हरियाणा ने कहा कि प्रदेशभर के सभी उच्च अधिकारी यहां आए और देखें और इस इलाके में पुलिस बल की मौजूदगी है। उस बारे बातचीत हुई है। जिसमें संबंधित चुनौतियां हैं। साइबर क्राइम को लेकर जो चुनौतियां हैं, आतंकवाद से संबधित चुनौतियां, एनडीपीएस की चुनौतियां इस मामले में काफी सार्थक विचारों का आदान – प्रदान हुआ है। कुछ सुझाव भी क्राइम बैठक के दौरान कुछ सुझाव पुलिस अधिकारियों से मिले हैं। इन सभी सुझाव को नोट कर इस पर कार्य योजना तैयार की जाएगी। पीके अग्रवाल डीजीपी ने कहा कि जो अच्छे कार्य हैं, उनकी जानकारी लोगों को मिल सके और जो आगामी चुनौतियां हैं उन पर फोकस करके और अच्छी रणनीति तैयार कर बेहतर कार्य किया जा सके। राज्य के लोगों को बेहतर पुलिस सेवा मिल सके, इस पर पूरा फोकस है। 

साइबर क्राइम के कारण मेवात हो रहा था बदनाम

डीजीपी पीके अग्रवाल ने कहा कि साइबर क्राइम की वजह से मेवात क्षेत्र बदनाम हो रहा था। साइबर क्राइम करने वाले लोगों के लिए बहुत ही बड़े पैमाने पर तैयारी करके एक सफल ऑपरेशन चलाया गया था। जिसमें बड़ी संख्या में पुलिस बल की मौजूदगी थी बल्कि सारे ऑपरेशन के बाद पुलिस ज्यादती को लेकर भी किसी प्रकार की कोई शिकायत नहीं आई। उसके बहुत ही अच्छे परिणाम सामने आए हैं। नामी – गिरामी साइबर क्राइम करने वाले लोग पकड़े गए थे। पूरे देश में जिनका नेटवर्क फैला हुआ था, उनकी कमर तोड़ने में सफल रहे हैं। डीजीपी ने कहा कि ऑनलाइन ट्रांजैक्शन बढ़ता जा रहा था, अपराधी नए – नए तरीकों को अपनाकर ठगी को अंजाम दे रहे थे। लोगों को लगातार भ्रमित करने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन यह बड़ा चैलेंज था। इस पर समय – समय पर भी अभियान चलाए जाते रहेंगे। इसके अलावा कई अन्य जिलों में भी अच्छा काम साइबर क्राइम रोकने को लेकर किया गया है। यमुनानगर जिले में पुलिस ने बिहार से एक गिरोह को पकड़ा है। इसके अलावा कई जिले में साइबर फ्रॉड अपराधी कर रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के डीजीपी से हुई बातचीत

पीके अग्रवाल डीजीपी हरियाणा ने कहा की उत्तर प्रदेश के डीजीपी के साथ बातचीत हुई है, जो सूचनाएं और आदान – प्रदान हैं, उनके साथ किया जाता रहेगा। आपसी तालमेल तीनों राज्यों की पुलिस में बेहतर कराया जाएगा ताकि किसी प्रकार की कोई दिक्कत ना आए।

पुलिस कर्मियों की कमी जल्द पूरी होगी

डीजीपी ने कहा कि डबवाली को नया पुलिस जिला बनाया गया है। उसमें नए थाने खोले जाएंगे, राज्य के अन्य जिलों में भी जो थाने व चौकी खोले जाएंगे, उनको रेखांकित करके मेन पावर बढ़ाई जाएगी। डीजीपी ने कहा कि चाहे मैनपावर की बात हो, वाहनों की बात हो, सभी संसाधन जुटाए जाएंगे ताकि उनका बेहतर इस्तेमाल किया जा सके और ताकि राज्य के लोगों को बेहतर पुलिस सुरक्षा मिल सके। कुछ मामले पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में लंबित हैं। उसके बाद मैनपावर बढ़ाई जाएगी। सरकार पुलिस विभाग को सुदृढ़ करने के लिए सभी जरूरी कदम उठा रही है।

सुरक्षा की दृष्टि से मेवात पूरी तरह से सुरक्षित रहे 

पत्रकारों से बातचीत दौरान डीजीपी ने कहा कि आईआरबी कैंप टूंडलाका में एक गेस्ट हाउस का निर्माण भी किया जा रहा है, मुलाजिमों के लिए मेस का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि धीरे- धीरे यहां पर पुलिस बल स्थापित किया जाएगा। प्रयास किया जाएगा कि यह इलाका सुरक्षा की दृष्टि से पूरी तरह से

सुरक्षित रहे। हरियाणा, राजस्थान तथा उत्तर प्रदेश की सीमा यहां नजदीक है। सुरक्षा की दृष्टि मजबूत हो, इसलिए यह कदम उठाया गया है। डीजीपी हरियाणा ने कहा कि प्रदेशभर के सभी उच्च अधिकारियों की आईआरबी कैंप में बैठक लेने का मुख्य उद्देश्य यह है कि वह देखें की इस इलाके में पुलिस बल की मौजूदगी है। उस बारे बातचीत हुई है। साइबर क्राइम को लेकर जो चुनौतियाँ

हैं, आतंकवाद से संबंधित चुनौतियां, एनडीपीएस की चुनौतियां इस मामले में काफी सार्थक विचारों का आदान प्रदान हुआ है। क्राइम बैठक के दौरान कुछ सुझाव भी पुलिस अधिकारियों से मिले हैं। इन सभी सुझाव को नोट कर इस पर कार्य योजना तैयार की जाएगी।

नासिरझजनैद हत्याकांड को लेकर भी बोले डीजीपी

डीजीपी ने कहा कि राजस्थान पुलिस के साथ जुनैद • नासिर हत्याकांड को लेकर संपर्क रखा है। हरियाणा पुलिस ने हर संभव मदद दी है और आगे भी जारी रहेगी। अपराधी चाहे कहीं के हैं और कोई भी -हैं, उन्हें पकड़ा जाएगा। कानून अपना काम करेगा।

28 हजार मामलो की छानबीन के लिए 40 साइबर विशेषज्ञों की बनाई टीम

27/28 अप्रैल की रात्रि नूंह जिला के 14 गांवो में करीब 5000 पुलिसकर्मियों के मौजूदगी में एसपी वरुण सिंगला की निगरानी में साइबर अपराधियों पर की गई रेड के बाद पकड़े गए 65 साइबर आरोपियों से जांच में पता चला की इन्होंने देश भर में करीब 28 हजार फ्रॉड किए हैं। अब इन 28 हजार मामलो की छानबीन के लिए डीजीपी ने 40 साइबर एक्सपर्ट की टीम गठित की है। इस टीम में सभी जिले के साइबर एक्सपर्ट को शामिल किया गया हैं। 

Khabarhaq
Author: Khabarhaq

0 Comments

No Comment.

Advertisement

हिरयाणा न्यूज़

महाराष्ट्र न्यूज़

हमारा FB पेज लाइक करे

यह भी पढ़े

मेवात को करीब 800 टीजीटी और पीजीटी अध्यापक मिलने के बाद भी भारी टोटा  • नूंह जिला केवल डीईओ और एक बीईओ के सहारे चल रहा है। • मेवात शिक्षा केडर को मिले करीब 325 पीजीटी अध्यापक  • जल्द ही जेबीटी अध्यापक मिल सकते हैं। • जिले में अभी भी करीब 4900 अध्यापकों की भारी कमी है।

मेवात के पुलिस कप्तान विजय प्रताप बोले :- जनता के सहयोग से मेवात को अपराध व नशा मुक्त बनाया जाएगा • अपराधी, अपराध छोड़ दें या फिर जिला, किसी को बख्शा नहीं जाएगा • एसपी का पदभार संभालने के बाद पहली बार पत्रकारों से रूबरू हुए।

Please try to copy from other website